इच्छाओं और अरमानों पर शिक्षा चर्चा!

इच्छाओं और अरमानों पर शिक्षा चर्चा
लोगों ने मेरे साथ एक नैतिक समझौता किया मिस्टर सेल्ज ने की जब मैं उसमें अपना हिस्सा निभा रहा था, वे अपना हिस्सा निभाने को उनकी इच्छाओं और अरमानों के बारे में उनसे बातें करना एक सही खराक किसी को अच्छा नहीं लगता कि उसे कुछ बेचा जा रहा हो या उसे की करने को कहा जा रहा हो। हम यह महसूस करना चाहते हैं कि हम अपनी मर्क से खरीद रहे हैं और अपने आइडिया पर खुद से काम कर रहे हैं। हमें अच्छा लगता है कि हमसे हमारी इच्छाओं, अरमानों और विचारों के बारे में बातें की जाए। यूजीन वेसन का मामला लीजिए। इस सच को सीखने से पहले वे हजारों डॉलर का बिजनेस में नुकसान उठा चुके थे। मिस्टर वेसन एक स्टुडियो के लिए स्केच बनाते थे, जो स्टाइलिस्ट और टेक्सटाइल निर्माताओं के लिए डिजाइन बनाता था। मिस्टर वेसन ने न्यूयॉर्क के एक शीर्ष के स्टाइलिस्ट को तीन साल तक हर हफ्ते कॉल किया था। "उसने मुझसे मिलने से कभी इंकार नहीं किया, मिस्टर वेसन ने कहा-पर उसने कभी नहीं खरीदा। उसने मेरे स्केचों को हमेशा ध्यान से देखा और कहा-"नहीं वेसन, मुझे नहीं लगता हमारी सोच आज मिलती है। 150 असफलताओं के बाद वेसन ने महसूस किया कि वे पागल होने के कगार पर हैं, इसलिए उन्होंने एक शाम मानवीय व्यवहार के बारे में एक हफ्ते तक पढने का फैसला किया, ताकि नए आइडिया और नए उत्साह को पैदा किया जा सके उन्होंने नया तरीका अपनाने का फैसला किया। आर्टिस्ट के आधे बने कई स्केचों को अपनी बांह में दबाकर वे खरीदने वाले के ऑफिस पहंच गए!

मैं आपसे एक छोटी-सी मदद चाहता हूं, अगर आप करना चाहें तो, उन्होंने कहा-"यहां कुछ आधे बने स्केच हैं। क्या आप बता सकते हैं कि मैं उन्हें किस तरह से पूरा करूं कि आप उनका इस्तेमाल कर सके?" खरीदने वाले ने बिना कुछ बोले उन स्केचों को काफी देर तक देखा। अंत में उन्होंने कहा-"वेसन, आप उन्हें कुछ दिनों तक मेरे पास छोड दीजिए सारे बाद आकर देखिए। वेसन तीन दिन बाद लौटे और उसकी सलाहें लीं, स्केचों को वापस स्टटियो और उन्हें खरीदने वाले के आइडिया के हिसाब से पूरा किया। परिणाम वे सारे-के-सारे स्वीकार कर लिए गए!

Post a Comment

0 Comments